अबकी बार कैसे लगेगी जुगल जोड़ी की परिक्रमा

– नवमी को तीन दिन शेष बचे हैं, लेकिन परिक्रमा मार्ग की हालत दयनीय
वृन्दावन, 15 नवम्बर 2018, (VT) कार्तिक मास की अक्षय नवमी को तीन दिन शेष बचे हैं, लेकिन मथुरा वृंदावन की जुगल जोड़ी परिक्रमा मार्ग की हालत दयनीय बनी हुई है। परिक्रमा मार्ग में सीवर का गंदा पानी भरा है। राहगीर बड़ी ही मुश्किल से इस मार्ग से निकल पा रहे हैं। ऐसे में 17 नवंबर को अक्षय नवमी को श्रद्धालुओं को परिक्रमा देने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
अक्षय नवमी पर्व पर आध्यात्मिक दृष्टि से परिक्रमा देने का बहुत महत्व है। परिक्रमा देने के लिए प्रतिवर्ष देशी विदेशी श्रद्धालु वृंदावन आते हैं। इस बार भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु वृंदावन आ चुके हैं। अक्षय नवमी पर भक्त मथुरा वृंदावन की जुगल जोड़ी की परिक्रमा देते हैं। लेकिन नगर निगम प्रशासन की उदासीनता के कारण गांव अक्रू्रर परिक्रमा मार्ग में सीवर का गंदा पानी भरा हुआ है। पागल बाबा के समीप सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का पानी परिक्रमा मार्ग में भर गया है। इससे भारी दुर्गंध के साथ ही मार्ग ही हालत बिगड़ गई है।
स्थानीय निवासी अशोक गोस्वामी, उत्तम बघेल, राकेश, विनोद शर्मा, विकास आदि ने कहा कि 17 नवंबर को अक्षय नवमी की परिक्रमा देने वालों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ सकता है। DKS

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *