रूद्र कुण्ड एवं संकर्शण कुण्ड से द ब्रज फाउंडेशन संस्था का कब्जा हटा, ग्राम जतीपुरा में प्रधान प्रतिनिधि को रखरखाव और संरक्षण की जिम्मेदारी

 

-द ब्रज फाउंडेशन ने कहा कुंडों पर हमारा कब्जा नहीं

-रुद्र व संकर्षण कुंड से ब्रज फाउंडेशन का कब्जा हटाए

-एसडीएम गोवर्धन ने जतीपुरा में प्रधान प्रतिनिधि को पत्र सौंपा

-एसडीएम गोवर्धन का नोटिस औचित्यहीन: ब्रज फाउण्डेशन

वृन्दावन, (VT) 26.05.2018 : एनजीटी द्वारा दिए गए आदेश के बाद एसडीएम गोवर्धन ने ब्रज फाउण्डेशन को नोटिस जारी करते हुए कुण्डों से कब्जा हटाने को कहा है। इसके अलावा साथी ही ग्राम प्रधानों से कुंडों को अपने कब्जे में लेने को कहा है। नोटिस में कहा गया है कि द ब्रज फाउंडेशन द्वारा गोवर्धन स्थित रुद्रकुंड एवं संकर्षण कुंड और ऋणमोचन कुंड का जीर्णोद्धार बिना ग्राम सभा भूमि प्रबंधक समिति की खुली बैठक व प्रस्ताव के तथा बगैर किसी सक्षम प्राधिकारी के अनुमोदन से कराया गया है, जो कि नियमों का घोर उल्लंघन है। इसके अलावा जीर्णोद्धार के नाम पर फाउंडेशन द्वारा कुंड, तालाब की परिधि में कैंप कार्यालय बना दिया गया है। इसमें अतिथि कक्ष, शौचालय, भोजनालय, विश्राम कक्ष आदि फाउंडेशन के निजी प्रयोग को बनाए गए हैं।

इनमें सुप्रीम कोर्ट के निर्णय परिषद के आदेशों एवं शासनादेशों में कुंड, तालाब, सरोवर को उनके मूल स्वरूप में स्थापित करने के, जो आदेश पारित किए गए हैं, उनकी घोर अवहेलना की गई है। एसडीएम ने चेतावनी दी है कि शाम तक उक्त कुंडों, तालाबों से अपने दावे/कब्जे से संबंधित समस्त भौतिक सामग्री, कर्मचारी, नियम संहिता व अन्य समस्त सामान हटाकर अवगत कराएं, अन्यथा संस्था को कुंडों पर अतिक्रमणकर्ता की श्रेणी में शामिल कर कठोर कार्रवाई की जाएगी।

इधर एसडीएम गोवर्धन ने जतीपुरा की प्रधान विमला देवी और आन्यौर की प्रधान गुड्डी देवी को नोटिस जारी करते हुए कहा है कि उनकी ग्राम पंचायत में स्थित रुद्रकुंड और संकर्षण कुंड का जीर्णोद्धार ब्रज फाउंडेशन ने बिना विधिक प्रक्रियाओं का पालन करते हुए कराया है। कुंडों पर कई निर्माण भी कराए हैं। एसडीएम ने संस्था को तत्काल अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए हैं। ग्राम सभा भूमि प्रबंधक समिति का अध्यक्ष होने के नाते ग्राम प्रधानों की जिम्मेदारी कुंडों, तालाबों से अतिक्रमण रोकने की है। ग्राम प्रधानों को तत्काल उक्त कुंडों को अपने कब्जे में लेने को कहा है। साथ ही थानाध्यक्ष गोवर्धन को भी ग्राम प्रधानों को कब्जा दिलाने को पुलिसबल उपलब्ध कराने के ’निर्देश दिए हैं।

द ब्रज फाउंडेशन के सचिव रजनीश कपूर ने डीएम मथुरा को भेजे पत्र में एसडीएम गोवर्धन के नोटिस को औचित्यहीन बताया है। उन्होंने कहा है कि इन कुंडों के विषय में दोनों गांवों के प्रधान कोई भी निर्णय लेने को कानूनी रूप से अधिकृत व स्वतंत्र हैं। पत्र में कहा गया है कि 24 मई को एनजीटी में संस्था के वकील ने अनेक दस्तावेजों के द्वारा यह सिद्ध किया कि संकर्षण कुंड और रुद्रकुंड पर द ब्रज फाउंडेशन का कोई कब्जा न था और न है। यह ग्राम समाज की सम्पत्ति है। मथुरा के दो पूर्व डीएम भी इस प्रकार का एनजीटी में शपथपत्र प्रस्तुत कर चुके हैं कि इन कुंडों पर ब्रज फाउंडेशन का कोई कब्जा नहीं है।

————————————————

कुंड के कब्जे के प्रकरण में एनजीटी न्यायालय के आदेश आते ही जतीपुरा व आन्यौर के सार्वजनिक रुद्र व संकर्षण कुंड से द ब्रज फाउंडेशन संस्था का कब्जा हट गया है। सार्वजनिक कुंडों की जिम्मेदारी शासन प्रशासन पर होगी।

एसडीएम गोवर्धन डीपी सिंह ने ग्राम जतीपुरा में प्रधान प्रतिनिधि सत्तो ठाकुर को रखरखाव और संरक्षण की जिम्मेदारी का पत्र भी सौंपा। कुंडों पर शौचालय, चार दीवारी, रसोईघर व निजी प्रयोग के कमरे बनाए जाने के बाद उस अतिक्रमण को प्रशासन हटा सकता है। न्यायालय ने कुंडों पर इस प्रकार के निर्माण अतिक्रमण के रूप माना है। शासन-प्रशासन की ओर से योजना बनाकर कुंड को पौराणिक स्वरूप में रखा जाएगा। इसके लिए सभी तैयारियां कर ली गईं हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *