कार्तिक नियम सेवा उपलक्ष्य में सोहनी सेवा कर दिया स्वच्छता का संदेश

– वृन्दावन बन्धु के निर्देशन में कार्तिक नियम सेवा के उपलक्ष्य में सोहनी सेवा प्रकल्प शुरू किया गया हैं, जिसमें वृन्दावन परिक्रमा मार्ग, यमुना के प्राचीन घाटों पर सफाई की जा रही हैं।  
– भगवान श्रीकृष्ण की लीलाभूमि वृंदावन में स्वच्छता का संदेश 16वीं सदी में स्वामी हरिदास ने सोहनी सेवा की शुरूआत करके दिया था।
वृन्दावन, 22 अक्टूबर 2018, (VT) वृन्दावन बन्धु के निर्देशन में कार्तिक नियम सेवा के उपलक्ष्य में सोहनी सेवा प्रकल्प शुरू किया गया हैं, जिसमें वृन्दावन परिक्रमा मार्ग, यमुना के प्राचीन घाटों पर सफाई की जा रही हैं। प्रकल्प का उद्घाटन मथुरा के प्रमुख डा. प्रवीन वर्मा, वैद्य प्रेमशंकर खण्डेलवाल, गोस्वामी दीपक आचार्य, आचार्य सिद्धार्थ शुक्ला एवं वृन्दावन बन्धु के निदेशक जगन्नाथ पोद्दार द्वारा सोहनी सेवा एवं घाटों पर फैली गंदगी साफ कर किया गया, सोहनी सेवा कर न केवल पुण्य अर्जित किया, बल्कि तीर्थनगरी को भी स्वच्छ रखने का संदेश दिया।
वृन्दावन बन्धु के निदेशक जगन्नाथ पोद्दार ने बताया कि भगवान श्रीकृष्ण की लीलाभूमि वृंदावन में स्वच्छता का संदेश 16वीं सदी में स्वामी हरिदास ने सोहनी सेवा की शुरूआत करके दिया था। स्वामी हरिदास की परंपरा मानने वाले अनुयायी आज भी सोहनी सेवा की परंपरा निभा रहे हैं। खासकर कार्तिक मास बहुत ही पवित्र मास हैं, इसमें सूदुर क्षेत्रों से भक्त एवं वैष्णव नियम सेवा करते हैं, उनकी सुविधार्थ यह प्रकल्प आयोजित किया गया हैं, जिसके दौरान घाटों एवं वृन्दावन परिक्रमा में सफाई अभियान लगातार एक मास तक जारी रहेगा, उन्होंने वृन्दावन के गणमान्य नागरिकों से अपील की है कि वह भी इस प्रकल्प मंे पधारकर सफाई अभियान के प्रति लोगों को सचेत करते रहें।  DKS

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *