हर तरफ जाम, यातायात बेलगाम

वृंदावन : श्रीधाम वृंदावन में यातायात कानूनों का उल्लंघन आम हो गया है। नगर का एक भी संपर्क मार्ग ऐसा नहीं बचा जिस पर दिन में कई-कई बार जाम का नजारा नहीं देखने को मिलता हो। बेलगाम यातायात वाले इन मार्गो में वह भी शामिल हैं जिनसे हर दिन वीआईपी निकलते हैं तथा कानून के रखवाले तैनात रहते हैं।

विश्व प्रसिद्ध भगवान बांके विहारी, रंगजी, सिद्ध पीठ मां कत्यायनी, हित हरिवंश चंद्र महाप्रभु एवं चैतन्य महाप्रभु की नगरी के लिये जनपद मुख्यालय, आगरा-दिल्ली हाईवे, मांट, मथुरा-बरेली, दाऊजी, गोकुल-महावन के साथ आसपास के गांवों से भी सार्वजनिक मार्ग हैं। इनमें से छटीकरा, मथुरा दो ही मार्ग ऐसे हैं जिन्हें यातायात की दृष्टि से अधिक सहूलियत भरा माना जाता है। बाकी सभी मार्ग विकास के नाम पर विनाश लीला का साक्षी बने हैं। ठीक तथा खराब दोनों प्रकार के मार्गो पर कानून के रखवाले तैनात रहते हैं, लेकिन एक पर भी यातायात कानून का पालन नहीं हो रहा। नगर के प्रमुख

सीएफसी, हरि निकुंज, विद्यापीठ, अटल्ला चुंगी, नगर पालिका चौराहे, अनाज मंडी, बजाजा बाजार, बिहारी जी बाजार, इस्कान मंदिर, परिक्रमा मार्ग, छटीकरा मार्ग आदि सभी पर दिन में कई बार जाम लगता है। नगर के चौड़े एवं सकरे रास्ते भी प्रत्येक दिन जाम के शिकार होते हैं। बिगडै़ल वाहन चालकों की मनमर्जी, यातायात सेंस की कमी का प्रदर्शन करती है। स्थानीय जनता तथा बाहर से आने वाले श्रद्धालु बेचारे बने व्यवस्था को कोसते रहते हैं। लेकिन कड़े कानून और उनको लागू करने के लिये जिम्मेदार अधिकारी एवं कर्मचारी जन सेवा के कर्तव्य का पालन नहीं कर पाते। प्रत्येक मार्ग पर नियम विरुद्ध सवारियां तथा सामान भरकर धड़ल्ले से वाहन दौड़ते रहे। गुरुवार को भी नगर के प्रमुख चौराहों, तिराहों तथा बाजारों में जाम दर जाम लगे किंतु रक्षकों का अमला कानून के जनाजे को निकलने से रोकने में पूरी तरह नाकाम ही रहा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *